Archive for July 2017

  • girl writing and listening
    Nishi agarwal

    शब्दों का संगीत

      वह पहली चीज़ जो मुझे मेरे माँ बाप से ज़्यादा अच्छी लगी वो कोई गुड़िया या कोई खिलौना नहीं और न ही कोई आराम देने वाली वस्तु थी। वह एक किताब थी। मेरे जीवन की बाकी  सारी चीज़े क्षणिक थी। किताबें...